---Advertisement---

उत्तराखंड: आग की चपेट में आने से 4 वनकर्मियों की दर्दनाक मौत

By Patrika News Desk

Updated on:

---Advertisement---

उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग बुझाने का नाम नहीं ले रही है। वन विभाग एक जंगल में आज पर काबू पा रहा है तो दूसरी जगह आग विकराल रूप धारण कर रही है। राज्य के अलग-अलग जनपदों से लगातार आग की घटनाएं सामने आ रही है। बीते गुरुवार को उत्तराखंड के अल्मोड़ा जनपद में बड़ा हादसा हो गया जहां जंगल की आग बुझाने गए वनकर्मी आग की चपेट में आ गए जिससे वन विभाग के 4 वनकर्मियों की मौत हो गई और चार कर्मचारी आग से झुलस गए।

यह भी पढ़ें- बुजुर्ग की लाठी बने सीएम पुष्कर धामी, तुरंत किया समस्या का समाधान..

जानकारी के अनुसार गुरुवार दोपहर को वन विभाग के कर्मचारियों को बिनसर अभयारण्य स्थित गैराड़ बुरुश कुटिया के पास जंगल में आग लगने की सूचना मिली। सूचना मिलने के बाद वन विभाग के कर्मचारी विभाग की गाड़ी ( UK01- GA 0124 ) के साथ लेकर घटना स्थल पर पहुंचे लेकिन आग बुझाने से पहले ही कर्मचारी आज की भयंकर लपटों में गिर गए और बुरी तरह झुलस गए।

4 वनकर्मियों की मौत

आग की चपेट में आने से 4 वनकर्मियों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 4 कर्मचारी गंभीर रूप से घायल हो गए। आग की चपेट में आने से वाहन भी जलकर खाक हो गया। घायलों को आपातकालीन सेवा 108 के माध्यम से बेस चिकित्सालय लाया गया जहां उपचार के बाद गंभीर रूप से घायल कृष्ण कुमार और कुंदन सिंह को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। मृतकों में वन विभाग के स्थाई, अस्थाई कर्मचारी और पीआरडी जवान शामिल हैं। घटना के बाद परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घटना को बेहद हृदय विदारक बताते हुए कहा कि दुख की घड़ी में उत्तराखंड सरकार वन कर्मियों के परिजनों के साथ खड़ी है। उन्होंने इस हादसे में जलकर घायल होने वाले चार वन कर्मियों को तत्काल हल्द्वानी बेस अस्पताल में एयरलिफ्ट करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही सीएम धामी ने मृतकों के परिजनों को 10 लाख रुपए की अनुग्रह धनराशि दिए जाने के निर्देश दिए।

Patrika News Desk  के बारे में
Patrika News Desk we are dedicated to celebrating and preserving the rich cultural heritage of the Pahari region.
For Feedback - contact@paharipatrika.in
---Advertisement---

Leave a Comment