---Advertisement---

श्रद्धालुओं के लिए खुला प्रसिद्ध माता गर्जिया देवी का मंदिर

By Patrika News Desk

Published on:

श्रद्धालुओं के लिए खुला प्रसिद्ध माता गर्जिया देवी का मंदिर
---Advertisement---

प्रसिद्ध गर्जिया देवी का मंदिर लगभग 50 दिनों के बाद सोमवार 1 जुलाई से श्रद्धालुओं के दर्शनों के लिए खोल दिया गया। पहले दिन ही श्रद्धालुओं की मां के दर्शन के लिए लगी भीड़,श्रद्धालुओं ने कहा कब से दर्शनों का इंतजार कर रहे थे, साथ ही दो माह बाद रोजगार मिलने के बाद प्रसाद विक्रेताओं में खुशियों का माहौल है।।

खुला प्रसिद्ध माता गर्जिया देवी का मंदिर

बता दें कि नैनीताल जिले के रामनगर में स्थित प्रसिद्ध गर्जिया देवी मंदिर में 10 मई से लेकर 30 जून तक श्रद्धालुओं के प्रवेश पर पूरी तरह रोक लगाई गई थी। यह निर्णय स्थानीय प्रशासन एवं मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने लिया था।

दरअसल प्रसिद्ध गर्जिया देवी मंदिर कोसी नदी के बीचों-बीच एक ऊंचे टीले पर स्थित है। साल 2010 में आई बाढ़ के चलते मंदिर के टीले में दरारें आ गई थीं। जिसके बाद से लगातार ये दरारें बढ़ रही थी। इससे जहां एक ओर माता के मंदिर को खतरा उत्पन्न हो गया था, तो वहीं मंदिर में दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के लिए भी एक बड़ा खतरा हो सकता था।

इसको देखते हुए सिंचाई विभाग द्वारा शासन को इसके टीले की मरम्मत का कार्य किये जाने को लेकर प्रस्ताव बनाकर लगातार भेजे जा रहे थे। इसी क्रम में मई 2024 में इसके प्रथम चरण के कार्य के लिए सिंचाई विभाग को 5 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम जारी हुई थी। जिसके बाद बरसात को देखते हुए 10 मई से 30 जून तक इस मंदिर को दर्शनार्थियों के लिए बंद कर दिया गया था।

यह निर्णय इसलिए लिया गया था कि कार्य के दौरान अगर मंदिर खुलता है तो किसी प्रकार से दर्शनार्थियों को दिक्कत न हो और कोई चोटिल भी न हो। सुरक्षा के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया था। बता दें कि मंदिर के टीले पर आई दरार के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी मंदिर परिसर का निरीक्षण किया था। सीएम ने मंदिर का जीर्णोद्धार कार्य करने का निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिया था।

अक्टूबर में होगा काम

मंदिर में आई दरारों की मरम्मत के लिए सरकार की ओर से साढ़े पांच करोड़ रुपए की पहली किस्त जारी कर दी गई थी जिसमे मंदिर के टीले का कार्य दो फेज में किया जा रहा है। पहले फेज की धनराशि 5 करोड़ 50 लाख है। वहीं पहले फेज का काम 10 मई से शुरू होकर 30 जून को खत्म हो चुका है, वहीं अब दूसरे फेज का काम अक्टूबर माह से प्रारंभ किया जाएगा।

वही दर्शनों के लिए अमेरिका से आये दर्शनार्थियों ने कहा कि आज मां के दर्शनों के लिए आए है,सभी भक्तों के दर्शन कर खुशी की लहर थी। वहीं इस पर कारोबार से जुड़े कारोबारियों ने भी खुशी जताई कि एक बार पुनः वे रोजगार से जुड़ गए हैं।वही मंदिर के मुख्य पुजारी मनोज पांडे ने शासन का धन्यवाद अदा करते हुए कहा कि अभी मंदिर का काम 10% हो चुका है,90% कम और बचा है जो अक्टूबर माह के बाद शुरू किया जाएगा।

Patrika News Desk  के बारे में
Patrika News Desk we are dedicated to celebrating and preserving the rich cultural heritage of the Pahari region.
For Feedback - contact@paharipatrika.in
---Advertisement---

Leave a Comment