Uttarakhand

उत्तरकाशी: जंगल की आग बुझाते झुलसा ग्रामीण, नाजुक हालत में हायर सेंटर रेफर

भले ही भारत में सार्दियां पड़ी हो लेकिन उत्तराखंड में इस वक्त भी जंगल आग से धधक रहे हैं। अब जंगलों में यह आग किसने लगाई यह तो हमेशा की तरह एक सवाल ही रह जाएगा लेकिन इस आग को बुझाने के लिए कई बार स्थानीय ग्रामीण झुलस जाते हैं या फिर अपनी जान से हाथ धो बैठते हैं। ऐसा ही मामला उत्तरकाशी से आया है जहां जंगल की आग बुझाते समय ग्रामीण बुरी तरह से झुलस गया। ग्रामीण की बुरी हालत को देखते हुए हायर सेंटर रेफर किया गया।

यह भी पढ़ें- उत्तरकाशी: मेले से लौट रही दो युवतियों को कार ने कुचला, हायर सेंटर रेफर

जानकारी के अनुसार उत्तरकाशी के मजियाली गांव के स्यालडा तोक के पास सिविल जंगल के पास आग लगी हुई थी जिसे बुझाने के लिए गांव के महिला और पुरुषों के एक दल ने कोशिश की, लेकिन इसी दौरान 56 वर्षीय ग्रामीण भरत सिंह आग की चपेट में आने से झुलस गया। निजी वाहन की मदद से ग्रामीणों ने भरत सिंह को उपचार के लिए सीएचसी नौगांव ले गया, जहां उनकी गंभीर हालत को देखते हुए हायर सेंटर देहरादून रेफर किया गया।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नौगांव के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर रफी अहमद ने बताया कि ग्रामीण भरत सिंह करीब 45 फीसदी जला हुआ था। जिसे प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर देहरादून रेफर कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि 40 फीसदी से ऊपर जले व्यक्ति को कई तरह की परेशानी हो सकती है. इसलिए परिजनों को मामले को गंभीरता से लेने लेने की सलाह दी गई है।

Related Articles