Blog

उत्तराखंड: 12 दिनों से लापता युवती का अधजला शव बरामद, शक के घेरे में प्रेमी

उत्तराखंड के मुनिकीरेती थाना के ढालवाला क्षेत्र से 12 दिनों से लापता युवती का अधजला शव देहरादून रोड़ के पास जंगलों से बरामद किया गया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले में शक की सुई प्रेमी की ओर घूम रही है। हांलांकि अभी तक आत्महत्या या हत्या को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है। साक्ष्य जुटाने के लिए हरिद्वार और देहरादून से फारेसिंक टीमों को बुलाया गया है।

यह भी पढ़ें- उत्तरकाशी में अंकिता भंडारी जैसा हत्याकांड ? रिजॉर्ट में संदिग्ध परिस्थितियों में मिला युवती का शव

जानकारी के अनुसार सुमन पार्क मार्ग अपर ढालवाला निवासी महावीर सिंह भंडारी की 22 वर्षीय पुत्री विनीता भंडारी बीते 4 दिसंबर को शापिंग की बात कहकर घर से निकली थी लेकिन फिर वापस नहीं लौटी। परिजनों ने जब विनीता के काल करने की कोशिश की तो नंबर स्विच ऑफ आ रहा था जिसके बाद परिजनों ने पुलिस को तहरीर दी।

प्रेमी से की थी आखिरी बात

पुलिस ने युवती की कॉल डिटेल खंगाली तो विनीता ने चार दिसंबर को दोपहर में एक व्यक्ति से बात की थी। जांच में पता चला कि अर्जुन रावत निवासी गुमानी वाला के साथ विनीता रावत का प्रेम-प्रसंग चल रहा था लेकिन कुछ समय पूर्व अर्जुन ने शादी से इंकार कर दिया था जिससे विनीता भंडारी गुस्से में थी।

लापता युवती का अधजला शव बरामद

शनिवार सुबह मुनिकीरेती थाना क्षेत्र में देहरादून रोड़ के जंगलों में एक युवती का अधजला शव की सूचना मिली। जिसकी शिनाख्त लापता युवती विनीता भंडारी के रुप में हुई। पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों के सुपुर्द किया गया। देहरादून के जंगल में शव मिलने से तनावपूर्ण माहौल बन गया है। नरेंद्रनगर सीओ स्मिता ममगाईं ने बताया कि पुलिस मामले की सक्रियता से जांच कर रही है। विनीता के परिजनों से पूछताछ कर रही है और हर एंगल से घटना की गहनता से जांच कर रही है। जल्द ही खुलासा किया जाएगा।

प्रेमी गिरफ्तार

थाना प्रभारी निरीक्षक मुनिकीरेती रितेश शाह ने बताया कि अर्जुन द्वारा विवाह से माना करने की वजह से विनीता गुस्से में थी और संभवतया इसी वजह से उसने आत्महत्या की हो। जिस युवक से उसकी आखरी बार बात हुई, उसकी लोकेशन घटनास्थल से अलग मिली है। उन्होंने बताया कि प्राथमिक जांच में आरोपित अर्जुन रावत के खिलाफ मृतका विनीता को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपित को न्यायालय में पेश किया जा रहा है।

Related Articles