उत्तराखंड: डीजीपी अशोक कुमार के नाम से फेसबुक पर मांगे रुपए, जांच के लिए एसटीएफ की छह टीमें गठित

उत्तराखंड में अपराधियों के हौसले कितने बुलंद हैं इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि फेसबुक पर डीजीपी अशोक कुमार ( DGP ASHOK KUMAR) के नाम पर फर्जी आईडी बनाकर रुपए मांगे, परंतु अपराधियों ने जिस से पैसे मांगे वह डीजीपी का परिचित है। शिकायत के बाद कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर मामले के खुलासे के लिए एसटीएफ की एक टीम गठित की गई है।

यह भी पढ़ें- बड़ी ख़बर: ट्विटर को आइटी ऐक्ट की तहत मिली इम्यूनिटी ख़त्म 

फेसबुक पर दूसरे की फेक आईडी बनाकर रुपए मांगने का यह मामला पहला नहीं है। इससे पहले भी इस तरह के मामले सामने आते रहे। साइबर अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है की उन्होंने उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ( DGP ASHOK KUMAR) के नाम पर ही फर्जी आईडी बनाकर इस्तेमाल किया है। मामले की शिकायत मिलते ही पुलिस विभाग में हड़कंप मच गई और जांच के लिए एसटीएफ की एक टीम गठित की गई।

फेसबुक में फर्जी आईडी बनाकर ₹10000 की मांग

मोती बाजार निवासी तनुज ओबरॉय द्वारा दी गई तहरीर के अनुसार उन्हें 14 जून को फेसबुक मैसेंजर पर डीजीपी अशोक कुमार के नाम से मैसेज आया। मैसेज में उनसे गूगल पर या पेटीएम के माध्यम से ₹10000 की मांग की गई। तनुज ने बताया कि वह डीजेपी को व्यक्तिगत रूप से जानते हैं और उन्हें इस बात का यकीन नहीं हुआ। जिसके बाद उन्होंने आईडी का URL चेक किया तो यह किसी सुधाकर डॉट एसके के नाम की आईडी का पता चला। तनूज को फर्जी आईडी पर यकीन होने के बाद कोतवाली में शिकायत दी। जिसके बाद आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

शिकायत मिलने के बाद मंगलवार को पुलिस मुख्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग कर जांच के लिए एसटीएफ की छह टीमें गठित की गई, साथ ही देहरादून समेत अन्य जनपदों से इस तरह के मामलों का विवरण मांगा गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *