प्रधानमंत्री मोदी मिले भाजपा अध्यक्ष, मंत्रिमंडल में फेरबदल की संभावना

इस हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) लगातार भाजपा आलाकमान और कैबिनेट मंत्री (Cabinet Ministers) और राज्य मंत्रियों (Ministers of State) से मीटिंग कर रहे हैं। कयास लगाए जा हैं की मंत्री मंडल (Council of Ministers) में बदलाव हो सकता है।

प्रधानमंत्री ने ली मीटिंग

प्रधान मंत्री ने इस हफ्ते कुछ महत्वपूर्ण मीटिंग ली।कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार ये मीटिंग प्रधानमंत्री मोदी के मंत्रिमंडल में बदलाव को लेकर हुई हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा (JP Nadda), गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah), रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh), नितिन गडकरी(Nitin Gadkari), भाजपा महासचिव(संगठन) बी एल संतोष(B L Santosh) और अन्य कैबिनेट मंत्रियों और राज्य मंत्रियों से मीटिंग की हैं। 2019 में भाजपा को मिली बड़ी जीत के बाद अब 2 साल पूरे हो चुके हैं।पिछली बार की तरह इस बार भी मंत्री मंडल में फेरबदल की काफी संभावनाएं जताई जा रही हैं। अकाली दल (Akali Dal) से सहयोग छूटने और रामविलास पासवान की मृत्यु के बाद उन्हें मिले मंत्रालयों का प्रभार रेल मंत्री पियूष गोयल और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को दिया गया था। इन मंत्रालयों का प्रभार अब किसी और को दिया जा सकता है।
कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार भाजपा के सहयोगी दल जदयू(JDU) ने भी मंत्रालय की मांग की है।

किस- किस को मिल सकती है जगह

इसमें सबसे ज्यादा चर्चित नाम ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और सरबानंद सोनोवाल (Sarbananda Sonowal) का है। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पिछले साल कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामा था। वह वर्तमान में भाजपा से राज्य सभा सांसद हैं। सरबानंद सोनोवाल आसाम के पूर्व मुख्यमंत्री हैं और वर्तमान में विधायक भी। यद्यपि आसाम में भाजपा की जीत के बावजूद पार्टी ने उन्हें मुख्यमंत्री न बनाकर हिमंत बिश्व शर्मा को मुख्यमंत्री का पद दिया था।

इस सूचि में बाकी सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi), त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) और बैजयंत जय पांडा (Baijayant Jay Panda) के नाम भी हैं जिन्हें मंत्री मंडल में शामिल किया जा सकता है।
सुशील कुमार मोदी बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री हैं और वर्तमान में भाजपा से राज्य सभा सांसद हैं। त्रिवेंद्र सिंह रावत उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हैं और विधायक भी। बैजयंत जय पांडा भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं।
साथ ही साथ जदयू(JDU) के किसी सांसद को मंत्री मंडल में जगह मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *