उत्तराखंड: मुस्लिम समुदाय कोरोना वैक्सीन लेने से कर रहे परहेज – पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत

पूरा देश कोरोना महामारी से लड़ रहा है, वहीं विशेषज्ञों ने भारत सरकार को कोरोना की तीसरी लहर की भी चेतावनी दी है। ऐसे में भारत सरकार वैक्सीनेशन की प्रक्रिया की गति तेजी से बढ़ा रही है। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीनेशन हो सके। इसी बीच उत्तराखंड के पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत ने सोमवार को बयान देते हुए कहा कि कोरोना वैक्सीन के दुष्प्रचार से मुस्लिम समुदाय में वैक्सीनेशन को लेकर संशय बना हुआ है।

यह भी पढ़ें- आप को जूते चप्पलों का डर: केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस हाल में घुसने से पहले लोगों से उतरवाए जूते

सोमवार को ऋषिकेश में आयोजित रक्तदान शिविर में पहुंचे पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि कोरोना से जंग जीतने के लिए वैक्सीनेशन जरुरी है, परंतु कुछ लोगों द्वारा दुष्प्रचार के कारण मुस्लिम समुदाय कोरोना वैक्सीन लगाने से बच रहे हैं। वैक्सीन को लेकर उनमें अब भी संशय है, जबकि कोविड़-19 से लडने के लिए वैक्सीनेशन ही एकमात्र उपाय है और सभी को टीका लगाना अनिवार्य है।

पूर्व सीएम ने कहा कि लोगों को जागरूक करने के लिए सामाजिक संगठनों और मीडिया को आगे आना चाहिए, जिससे वैक्सीनेशन को लेकर संशय ख़त्म हो सके और ज्यादा से ज्यादा लोग को टीकाकरण लग सके। उन्होंने कहा कि वैक्सीन को लेकर कई प्रकार की भ्रांतियां फैलाई गई थी परंतु अब स्थिति सामान्य हो गई है।

उन्होंने आगे कहा कि यदि कोई वैक्सीनेशन नहीं कराता है, तो उससे कोरोना वायरस दूसरों में फैलने का खतरा बढ़ जाता है, और वह कोरोना का सुपर स्प्रैडर बन जाता है, इसलिए टीकाकरण के लिए लोगों को आगे आना चाहिए।

 

One thought on “उत्तराखंड: मुस्लिम समुदाय कोरोना वैक्सीन लेने से कर रहे परहेज – पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *